Tuesday, September 27 2022

April 26, 2022

70 दिन छह राज्यों में पैदल चल लोगों को जागरूक किया गीता बालकृष्णन ने

नई दिल्ली – बदलते जीवन में अच्छे डिजाइन की भूमिका के बारे में जागरूकता के उद्देश्य के सन्देश को घर घर तक पहुँचाया 53 वर्षीय महिला गीता बालकृष्णन ने पहुँचाया अपनी 1,700 किमी और छह राज्यों की पैदल यात्रा के जरिये। गीता बालकृष्णन ने अपनी पैदल यात्रा भीषण गर्मी में 13 फरवरी को कोलकाता से शुरू की और अभी हाल रविवार को दिल्ली में संपन्न की । वह पश्चिम बंगाल, झारखंड, छत्तीसगढ़, मध्य प्रदेश, राजस्थान और उत्तर प्रदेश के रास्ते दिल्ली पहुंची। उनकी पैदल यात्रा दिल्ली के लाल किले पर समाप्त हुई। अपनी यात्रा के दौरान गीता जी शाम को लोगों से उनके घरों पर मिलती थीं । वह बच्चों के साथ बातचीत करने के लिए स्कूल भी जाती थीं और रास्ते में ढाबों और चाय की दुकानों पर लोगों को यह सन्देश देती थीं । निवासियों और यात्रियों के साथ छोटी बैठकों के माध्यम से, उन्होंने परियोजनाओं का एक दृश्य लोगों को दिखाया जो एक वास्तुकार की सामाजिक जिम्मेदारी को परिभाषित करता है। भीषण गर्मी के कारण बालकृष्णन बहुत सारे तरल पदार्थ यात्रा के दौरान पीती थीं।