Tuesday, May 24 2022

November 21, 2021

स्वछता में भारत का राजा इंदौर शहर

नई दिल्ली – स्वच्छ सर्वेक्षण के तहत लगातार पांचवें वर्ष इंदौर को भारत के सबसे स्वच्छ शहर के खिताब से नवाजा गया, जबकि सूरत और विजयवाड़ा ने 1 लाख से अधिक आबादी श्रेणी में क्रमशः दूसरा और तीसरा स्थान हासिल किया। 1 लाख से कम की जनसंख्या श्रेणी में महाराष्ट्र के वीटा, लोनावाला और सासवद ने क्रमशः पहला, दूसरा और तीसरा स्थान हासिल किया। वाराणसी सर्वश्रेष्ठ गंगा टाउन के रूप में उभरा, जबकि अहमदाबाद छावनी ने भारत की सबसे स्वच्छ छावनी का खिताब जीता, इसके बाद मेरठ छावनी और दिल्ली छावनी का स्थान रहा। फास्टेस्ट मूवर की श्रेणी में, होशंगाबाद (मध्य प्रदेश) 2020 की रैंकिंग में 361वें स्थान से 274 रैंक की छलांग के साथ ‘फास्टेस्ट मूवर सिटी’ (‘1 लाख से अधिक आबादी’ श्रेणी में) के रूप में उभरा। यह घोषणा केंद्र सरकार के वार्षिक स्वच्छता सर्वेक्षण में की गई।
नोएडा 3-10 लाख की आबादी की श्रेणी में देश के “सबसे स्वच्छ मध्यम शहर” के रूप में उभरा। नवी मुंबई ने सफाईमित्र सुरक्षा चैलेंज की श्रेणी में पहला पुरस्कार जीता। इसे 10-40 लाख आबादी की श्रेणी में भारत के सबसे स्वच्छ बड़े शहर के रूप में भी पहला स्थान मिला है।