Tuesday, July 05 2022

December 29, 2021

विमानों और हवाई अड्डों पर भारतीय संगीत ही गूंजेगा

नई दिल्ली – हवाई यात्रिओं को भावनात्मक रूप से देश की परंपराओं से जोड़ने के लिए भारत में हवाई अड्डों के टर्मिनल परिसर तथा देश में संचालित होने वाली उड़ानों में भारतीय शास्त्रीय या वाद्य संगीत बजाया जायेगा । इस सम्बन्ध में नागरिक उड्डयन मंत्रालय ने एक एडवाइजरी जारी कर देश की सभी हवाई कंपनियों और हवाईअड्डों के संचालकों से कहा कि वे उड़ानों और टर्मिनल परिसरों में भारतीय संगीत बजाने पर विचार करें। देश के प्रसिद्ध कलाकारों, गायकों और संगीतकारों जिसमें कैलाश खेर, अनु मलिक, मालिनी अवस्थी और सोनल मानसिंह शामिल हैं ने आईसीसीआर के तत्वावधान में यह मांग केंद्रीय नागरिक उड्डयन मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया के सम्मुख रखी थी।
भारतीय रेल मंत्रालय द्वारा जारी एडवाइजरी में कहा गया है कि भारत में पारंपरिक संगीत की समृद्ध विविधता है। भारत की विशालता और विविधता के कारण, भारतीय संगीत कई किस्मों और रूपों में कई शैलियों को समाहित करता है, जिसमें शास्त्रीय संगीत, लोक, हल्का स्वर, वाद्य संगीत आदि शामिल हैं, इसका इतिहास कई सहस्राब्दियों तक फैला है और उप-महाद्वीप में फैले कई भौगोलिक स्थानों में विकसित हुआ है।