Thursday, December 09 2021

November 19, 2021

भारत दुनिया का तीसरा सबसे बड़ा घरेलू विमानन बाजार बना

नई दिल्ली – भारतीय नागरिक उड्डयन उद्योग ने पिछले कुछ वर्षों में तेज गति के साथ विकास देखा है और यह देश के आर्थिक विकास में महत्वपूर्ण योगदान देता है। भारत का नागरिक उड्डयन उद्योग देश का गौरव है क्योंकि यह भारतीयों को देश और दुनिया के सबसे दूरस्थ कोनों से जोड़ने में महत्वपूर्ण भूमिका निभा रहा है। उन्होंने साथ ही कहा कि यह दुनिया भर से लोगों को भारत में व्यापार और पर्यटन के अनेक अवसरों की खोज करने के लिए ला रहा है।केन्द्रीय नागरिक उड्डयन मंत्री ज्योतिरादित्य एम सिंधिया विंग्स इंडिया, 2022 के उद्घाटन अवसर पर बोल रहे थे।

माननीय मंत्री ने कहा कि भारतीय विमानन उद्योग ने लंबी दूरी तय की है, कई ऐतिहासिक स्तर पाये हैं और दुनिया के सबसे आकर्षक विमानन बाजारों में से एक बनने के लिए कई चुनौतियों का सामना किया है। उद्योग ने बहुत तेजी के साथ वृद्धि की है और यह दुनिया का तीसरा सबसे बड़ा घरेलू विमानन बाजार बन गया है। भारत आज संयुक्त राज्य अमेरिका और चीन के बाद तीसरा सबसे बड़ा घरेलू यातायात संभालता है। उन्होंने कहा कि यात्रियों की संख्या में लगातार वृद्धि के साथ, भारतीय एयरलाइंस नई क्षेत्रों में विस्तार की योजना बना रही हैं।उन्होंने कहा कि हम सभी जानते हैं कि इस सघन विश्वव्यापी अर्थव्यवस्था में, हवाई परिवहन देश के परिवहन बुनियादी ढांचे का एक प्रमुख तत्व है और देश के आर्थिक विकास में एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है।