Tuesday, September 27 2022

February 11, 2022

फिल्म गंगूबाई काठियावाड़ी का वर्ल्ड प्रीमियर 18 फरवरी को बर्लिन महोत्सव में

बर्लिन-10 से 20 फरवरी तक चलने वाले बर्लिन अन्तराष्ट्रीय फिल्म फेस्टिवल में भारत की भागीदारी हमेशा की तरह इस बार भी है। भारत में हर साल लगभग 3000 फिल्में बनती हैं।
फिल्म महोत्सव की कार्यकारी निदेशक मेरिएट रिसेनबीक ने आजादी के 75 साल पूरे होने पर भारत को बधाई दी। उन्होंने भारत के उन सात युवा प्रतिभाशाली कलाकारों का विशेष रूप से जिक्र किया, जिन्हें इस साल बर्लिनले टैलेंट का हिस्सा बनने के लिए चुना गया है।
सत्र के मुख्य आकर्षण में दो हिंदी फिल्मों के ट्रेलर का प्रदर्शन था. संजय लीला भंसाली द्वारा निर्देशित फिल्म गंगूबाई काठियावाड़ी का वर्ल्ड प्रीमियर 18 फरवरी को बर्लिन महोत्सव में होने जा रहा है और उसके बाद 25 फरवरी को फिल्म भारत में रिलीज होगी और सरदार उधम सिंह का ट्रेलर दिखाया गया जिसे शूजीत सरकार ने निर्देशित किया है और यह इस साल ईएफएम में दिखाई जा रही है।
इंडिया पवेलियन भारत के सिनेमाघरों और उन खूबसूरत स्थानों की एक झलक पेश करता है जो फिल्म निर्माताओं को भारत आने के लिए प्रेरित करते हैं। पवेलियन 17 फरवरी तक लाइव रहेगा। रोज कॉन्फ्रेंस सत्र और फिल्म स्क्रीनिंग होगी।
सत्यजीत रे के सौ साल को, सिनेमा जगत की इस महान हस्ती की पसंदीदा फिल्मों और उनके जीवन पर कुछ वृत्तचित्रों की इंडिया पवेलियन में विशेष स्क्रीनिंग के जरिए मनाया जा रहा है। इंडिया पवेलियन में विभिन्न क्षेत्रीय भाषाओं की आठ अन्य भारतीय फिल्में दिखाई जा रही हैं। इनमें असम की डिमासा बोली में सेमखोर; मराठी में बिटरस्वीट और गोदावरी; तमिल में कुझंगल; बंगाली में कलकोक्खो; तेलुगु में नाट्यम; हिंदी में अल्फा बीटा गामा और कन्नड़ में डोलू शामिल हैं। महोत्सव के दौरान, सीआईआई और एमआईबी भारत की स्वर कोकिला, भारत रत्न लगा मंगेशकर को भी श्रद्धांजलि अर्पित करेंगे, जिनका 6 फरवरी को 92 वर्ष की आयु में मुंबई में निधन हो गया। उन्होंने आठ दशकों तक पार्श्व गायिका के तौर पर भारतीय सिनेमा की संगीत की दुनिया में अपनी अमिट छाप छोड़ी।