Tuesday, September 28 2021

August 27, 2021

चुने हुए प्रतिनिधियों को हर साल अपना रिपोर्ट कार्ड जनता के सामने पेश करना चाहिए – उपराष्ट्रपति नायडू

नई दिल्ली – उपराष्ट्रपति श्री एम. वेंकैया नायडू ने कहा कि “रिफलेक्टिंग, रिकलेक्टिंग, रिकनेक्टिंग” नामक पुस्तक लोगों के लिए एक तरह का रिपोर्ट कार्ड है। उन्होंने कहा कि सार्वजनिक पदों पर बैठे लोगों और निर्वाचित प्रतिनिधियों का यह कर्तव्य है कि वे लोगों द्वारा सौंपी गई जिम्मेदारियों और कर्तव्यों पर हर साल एक रिपोर्ट कार्ड पेश करें। उन्होंने कहा, “यह आपका कर्तव्य है कि आप जिन लोगों की सेवा कर रहे हैं, उनसे संवाद करें और बताएं कि आपने क्या किया है।”
सूचना और प्रसारण मंत्रालय के प्रकाशन विभाग द्वारा प्रकाशित यह पुस्तक उपराष्ट्रपति के कार्यकाल के चौथे साल का वर्णन करती है।केंद्रीय सूचना एवं प्रसारण, युवा मामले और खेल मंत्री, अनुराग ठाकुर ने उपराष्ट्रपति श्री एम. वेंकैया नायडू को इस पुस्तक पुस्तक की पहली प्रति भेंट की है।